देश उबल रहा गुस्से में

  1. g.g.solanki .desh ubal raha gusse me
  2. armi shahid .desh ubal raha gusse me
  1. g.g.solanki .desh ubal raha gusse me
  2. armi shahid .desh ubal raha gusse me
g.g.solanki .desh ubal raha gusse me

g.g.solanki .desh ubal raha gusse me
kavyapravah.com

armi shahid .desh ubal raha gusse me

armi shahid .desh ubal raha gusse me
kavyapravah.com

 

देश उबल रहा गुस्से में
देश उबल रहा गुस्से में ,आतंकी हरकतों पर
शरहद पर होने वाली , कायराना हरकत पर
देश उबल
कश्मीर समस्या,कब सुलझेगी,आएगी शान्ति
नर्क बना दिया पाक ने ,    स्वर्ग जो धरती पर
देश उबल
आतंकियों को देना समर्थन,देशद्रोह कहलाता
अंजाम देते देश द्रोह को ,   लोग चंद पैसो पर
देश उबल
बर्बरता की सीमा लांघकर, घटना दी अंजाम
इस्लामी आतंकवाद ने ढाया कहर सीमा पर
देश उबल
सीमा से लगे आतंकी कैम्प, को ध्वस्त करो
ताकि आतंकी घुसपैठ ,ना हो पाए सीमा पर
देश उबल

जन कवि .गोपाल जी सोलंकी

One Comment

  1. देश उबल रहा गुस्से में
    देश उबल रहा गुस्से में ,आतंकी हरकतों पर
    शरहद पर होने वाली , कायराना हरकत पर
    देश उबल
    कश्मीर समस्या,कब सुलझेगी,आएगी शान्ति
    नर्क बना दिया पाक ने , स्वर्ग जो धरती पर
    देश उबल
    आतंकियों को देना समर्थन,देशद्रोह कहलाता
    अंजाम देते देश द्रोह को , लोग चंद पैसो पर
    देश उबल
    desh ubal raha hai gusse me
    jan kavi .gopal ji solanki