बचपन को बचालो

  1. english midiyam . bachpan ko bachalo
  2. nanhe fariste . bachpan ko bachalo
  1. english midiyam . bachpan ko bachalo
  2. nanhe fariste . bachpan ko bachalo
english midiyam . bachpan ko bachalo

english midiyam . bachpan ko bachalo
kavyapravah.com

nanhe fariste . bachpan ko bachalo

nanhe fariste . bachpan ko bachalo
kavyapravah.com

 

बचपन को बचालो
बस्तों के बोझ से ,दबी जा रही
नन्हों की नन्ही जान
शिक्षा के नाम से ,आज चल रही
देश में लाखों दुकान
पालको के स्टेट्स को तुष्ट कर रही
आफत में नन्ही जान
बस्तों के बोझ
बड़ा नाम बड़ी बिल्डिंग शो कर रही
शिक्षा की उंची उड़ान
फुर्सत नहीं पालकों को देखे हो रही
टेंस उनकी सन्तान
हर बात में उनका पनिस्मेंट हो रहा
डर के साए में जान
बस्तों के बोझ
सुबह से निकला शाम को आ रहा
भरी बदन में थकान
खाना खाकर कुछ देर में जा रहा
ट्यूशन को नादान
दिनचर्या ऐसी की व्यस्त हो रहा
खेल का नहीं भान
बस्तों के बोझ
देखो प्यारा लाडला आपका रो रहा
सुनो लगा कर कान
मंहगी शिक्षा डिसिप्लीन में खो रहा
लाडला अपनी मुस्कान
बचा लो इसके बचपन को कह रहा
जन कवि बात श्री मान

जन कवि .गोपाल जी सोलंकी

One Comment

  1. बचपन को बचालो
    बस्तों के बोझ से ,दबी जा रही
    नन्हों की नन्ही जान
    शिक्षा के नाम से ,आज चल रही
    देश में लाखों दुकान
    पालको के स्टेट्स को तुष्ट कर रही
    आफत में नन्ही जान
    बस्तों के बोझ
    बड़ा नाम बड़ी बिल्डिंग शो कर रही
    शिक्षा की उंची उड़ान
    फुर्सत नहीं पालकों को देखे हो रही
    टेंस उनकी सन्तान
    bachpan ko bachalo
    jan kavi gopal ji solanki